Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

तू कोई और है | तमाशा | इरशाद कामिल

तू कोई और है | तमाशा | इरशाद कामिल

and this poetry is so good that it must be there to read in Hindi as well. So here is the song's lyrics in Devanagari.

फिल्म: तमाशा
संगीत: ए आर रहमान
गीत: इरशाद कामिल
गायक: रहमान, अल्मा फेरोविच, अर्जुन चैंडी
अधिकार: टी सीरीज

तू कोई और है
जानता है तू
सामने इस जहान के
इक नक़ाब है
तू और है, कोई और है
क्यूँ नहीं वो, जो है?

तू जहां के वास्ते खुद को भूल कर
अपने ही साथ ना ऐसे ज़ुल्म कर
खोल दे वो गिरहें जो लगाए तुझपे तू
बोल दे तू कोई और है
चेहरे जो ओढ़े तूने वो तेरे कहाँ हैं..

सामने आ, खोल दे सब
जो है दिल में बोल दे अब

तेरे रास्ते, ख्वाब हैं तेरे
तेरे साथ जो उम्र भर चले
ओ इन्हें गले लगा
तू कौन है बता
ओ .. खोल दे ये गिरह

तू कोई और है
तेरी ना हदें
आसमान है.. ख़याल है..
बेमिसाल है..
तू मौज है, तू रौनकें
चाहे जो तू, वो है

Post a comment

0 Comments